जैसे कि हम सभी जानते हैं कि कुत्ते एक वफादार जानवर होते हैं। वह अपनी वफादारी तब ही दिखाते हैं जब कोई उनका या उनके परिवार वालों से छेड़ छाड़ करता है। कहा जाता है कि घर में पहले हुए कुत्ते एक चौकीदार के समान होते हैं जो अपने घर और परिवार वालों की रक्षा करते हैं और जब भी कोई अपरिचित व्यक्ति घर आये तो वह परिवार वालों को सतर्क करता है। आज हम आपको ऐसे ही एक बहादुर कुत्ते के बारे में बताने वाले हैं जिसने अपनी जान को दांव पर रखकर एक परिवार को घर में लगी भीषण आग से बचाया है।

बता दे क्योंकि सा अमेरिका के फ्लोरिडा शहर में हुआ था। फ्लोरिडा शहर के रहिवासी लेरोय बटलर के घर में आधी रात को एक भीषण आग लगी थी। आधी रात में आग लगने के कारण सभी लोग गहरी नींद में सो रहे थे जिससे उनको फायर अलार्म का आवाज तक कि सुनाई नही दिया। परंतु इस फायर अलार्म की आवाज जिप्पी नामक लेरोय बटलर को सुनाई दी।

घर में लग रही आग को देखते हुए जिप्पी तुरंत ही घर में सो रहे उसके परिवार को भौंककर उठाने लग गया। वह आग की लपटों से बचते हुए घरवालों को उठा रहा था। पूरा परिवार नींद से उठकर आग से बचते हुए घर के बाहर निकल आया। घर से निकलने के बाद घर के मालक लेरोय बटलर को याद आया कि उनका कुत्ता जिप्पी अंदर ही रह गया है।

लेरोय बटलर जिप्पी को बचाने के लिए घर के अंदर घुस रहे थे लेकिन तब तक काफी देर हो चुकी थी। दरसअल, आग पूरे घर मे फैल चुकी थी और घर मे जाने का रास्ता आग से बंद हो चुका था। उनको फायर ब्रिगेड के आने के इंतजार करने के अलावा कोई और दूसरा मौका नहीं था। फायर ब्रिगेड आने के बाद जब आग कंट्रोल में आई तब पता चला कि जिप्पी अब इस दुनिया मे नही रह। जिप्पी के मौत का अफसोस आज भी लेरोय बटलर को होता है। जिप्पी सच मे एक बहादुर जानवर था।

फॉक्स न्यूज के साथ बात करते हुए लेरोय बटलर ने कहा है कि,”लिविंग रूम का फ़र्श जलने लगा था, इसलिए शायद जिप्पी बाहर निकल नहीं पाया। हम जिप्पी को 3-4 साल पहले ही घर लेकर आए थे। उसने अपना काम किया और हमें बचा लिया। हमे उसके इस बहादुरी पर गर्व है।”

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here