रविवार को अमेरिका के ह्यूस्टन में होने वाला ‘हाउडी मोदी’ कार्यक्रम दुनिया भर में चर्चा का विषय बन गया। जहां भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी मुख्य वक्ता के रूप में स्पीच देंगे। इन्हें सुनने के लिए इतने सारे लोगों ने अप्लाई किया की पूरी सीट बूक हो गई। कई लोगों को तो टिकट नहीं मिलने से निराशा का सामना करना पड़ा। बता दें कि आज PM मोदी न्यूयॉर्क में 43 कंपनियों के प्रमुखों या सीईओ के साथ अलग से मुलाकात करेंगे।

आइबीएम, डिलॉयटे, बैंक ऑफ अमेरिका, जेपी मोर्गन, लॉकहीड मार्टिन, मैरियट इंटरनेशनल, मास्टरकार्ड, क्वालकॉम, वीजा, वालमार्ट, अमेजन, पेप्सीको, प्रडेंसिएल, फ्रैंकलिन टेम्पलटन और मेटलाइफ जैसी कंपनियों के प्रमुख और सीईओ पीएम मोदी से मुलाक़ात करने के लिए इस बैठक में हिस्सा लेंगें।

पीएम मोदी की कोशिश है कि वो भारत की तरफ से उठाए गए आर्थिक सुधार के प्रयासों के बारे में इन लोगों को बता सके। दूसरी तरफ देखा जाए तो अमेरिका और चीन के बीच चल रही ट्रेड वार के कारण भारतीय बाजार की मार्केटिंग को अमेरिकी कंपनियों द्वारा सपोर्ट मिल सकता है। अमेरिका के इस दौर पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी न्यूयॉर्क में राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप से मिलेंगे। पीएम मोदी 21 सितंबर को अमेरिका पहुंचे है। जहां उनका जोरदार स्वागत हुआ।

बता दें कि मंगलवार को पीएम मोदी ने संयुक्त राष्ट्र महासभा सत्र में राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के साथ द्विपक्षीय संबंधों पर चर्चा की। जहां ट्रंप ने कहा कि जल्द ही उनका देश भारत के साथ एक व्यापार समझौते पर पहुंच जाएगा। इससे दोनों देशों के बीच आर्थिक संबंधों को और मजबूती मिलेगी। हम इस पर अच्छा काम कर रहे हैं। मुझे लगता है कि जल्द ही हम व्यापार समझौता कर लेंगे।

‘हाउडी मोदी’ कार्यक्रम को संबोधित करते हुए अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने प्रधानमंत्री मोदी को अपना बेहतरीन परिचय देने और अमेरिका के मेहमान बनने के लिए शुक्रिया अदा किया। डोनाल्ड ट्रंप ने कहा कि भारत और अमेरिका के संबंध अब तक के दौर में सबसे अच्छे हैं। साथ ही कहा कि दोनों के ही संविधान तीन सुंदर शब्दों ‘वी द पीपल’ से शुरू होते हैं।

***********

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here