आज हम दो मामले बताएंगे जिसमे बात हम पति पत्नी ही करेंगे। एक कपल था जो कि युवा था और दूसरा कपल बुजुर्ग था। युवा कपल ने सुसाइड कर लिया तो वहीं दूसरी ओर बुजुर्ग कपल की स्वाभाविक मौत हुई।

पहले हम युवा कपल के बारे में बताएंगे। ये मामला भोपाल का है। भोपाल के बिलखिरिया के शांतिनगर ने एक कपल ने फांसी लगा कि जान दे दी। मरने वाले आदमी का नाम अशोक जाटव था और वो एक प्लम्बर था। डेढ़ साल पहले उसकी शादी हुई थी। सोमवार रात करीब 8 बजे अशोक घूमने के लिए चला गया और जब घर नहीं लौटा तो उसकी पत्नी वैशाली ने उसे फोन किया और गुस्सा दिखाया फिर दोनों में बहस हो गयी। जब अशोक घर आया तो उसने देखा कि वैशाली ने खुद को फांसी लगा ली है। फिर अशोक के ससुर ने उसको बहुत बुरा भला कहा। फिर अशोक घर के पीछे गया और उसने भी खुद को फांसी लगा ली।

ये भी पढ़िए-

1. कबाड़ा सी दिखने वाली इस कार में ऐसे बना दिया इस शख्स को करोड़पति

2. मिलिए भारत के नए अरबपति से, जानिए कैसे तय किया टीचर से अरबपति बनने तक का सफर

अब बात करेंगे वृद्ध कपल के बारे में। वंदना और दिलीप की 30 साल पहले शादी हुई थी। वंदना एडमिशन एंड फीस रेगुलेटरी कमेटी में 2008 से संविदाकर्मी थी। सोमवार को ड्यूटी करते वक़्त अचानक वंदना बेहोश होकर गिर पड़ी। जब इसका पता उनके पति को चला तो वो तुरन्त अपनी पत्नी के पास पहुंचे। पत्नी को बेहोश देखकर उन्हें सदमा लग गया और उन्होंने पत्नी का नाम लिया और वो भी बेहोश हो गए। दोनों को अस्पताल ले जाया गया मगर दोनों की मौत हो चुकी थी। उनके बेटे ने मंगलवार को अपने माता पिता का अंतिम संस्कार किया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here