इंडियन स्पेस रिसर्च आर्गेनाइजेशन(इसरो) ने हाल ही में अपना चंद्रयान-२ का मिशन लगभग पूरा ही कर लिया था लेकिन चांद से केवल 2.1 किमी पहले ही विक्रम लैंडर से संपर्क टूट गया। हालांकि यह मिशन पूरा सफल न हो सका पर इन भारतीय वैज्ञानिकों ने पूरे देश का दिल जीत लिया है। भारतीय पंतप्रधान नरेंद्रजी मोदी ने भी हमारे वैज्ञानिकों की काफी प्रशंशा की है। चंद्रयान-२ के इस 95 फीसदी सफलता के बाद अब इसरो अंतरिक्ष मे एक बड़ा कदम रखने जा रहा है।

इसरो के अध्यक्ष के.सिवान ने कल हुए मीटिंग में कहा है कि इसरो दिसंबर 2021 तक मानव को अंतरिक्ष में भेजने का मिशन निभाने वाले है। सिवन ने आगे कहा कि, “दिसम्बर 2020 तक हमारे पास मानव अंतरिक्ष विमान का पहला मानव रहित मिशन होगा। यह मिशन हम दिसंबर 2021 तक पूरा करेंगे।”

सिवान ने इस मिशन का जिक्र करते हुए कहा है कि, “दिसंबर 2021 तक हम पहले भारतीय को रॉकेट के सहारे अंतरिक्ष मे ले जाएंगे। यह हमारा अगला मिशन है जिसपर टीम अगले दो साल तक काम करेगी। देश के लिए यह मिशन काफी महत्वपूर्ण है जो विज्ञान और प्रौद्योगिकी क्षमता को बढ़ावा देगा।”

सिवान ने देश के प्राचीन हाल को देखते हुए कहा कि “पिछली आधी सदी में हुई प्रगति के बावजूद, गरीबी और भूख, स्वास्थ्य और स्वच्छता और स्वच्छ जल के कई ऐसे मुद्दे जिनका अभी समाधान किया जाना हैं। उन्होंने आईआईटी के छात्रों से उन्हें हल करने में मदद करने के लिए आगे आने का आह्वान किया।” सिवन ने कहा, “जैसा कि गांधी जी ने कहा है कि स्थानीय समस्याओं के लिए स्थानीय समाधानों की जरूरत है।”

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here