दुनियां में सऊदी अरब का कानून सबसे सख्त कानून है। वहां पर किसी अपराध के लिए सजा देने का प्रावधान भी अलग तरह का है। सऊदी अरब के सजा देने के तरीके को कई देश सही नहीं मानते है। लेकिन उनका कहना है कि अगर आगे से अपराध को रोकना है तो इसी तरह के कदम उठाने पडेंगे। वहां की सजा के बारे में सुनकर कोई भी अपराध करने से पहले दस बार जरूर सोचेगा। कई अपराध ऐसे है जिसके लिए आरोपी को सरेआम फांसी पर लटकाया जाता है। आइए हम आपको कुछ ऐसे अपराधों के बारे में बताते है जिसके लिए मिलती है ये सजा…..

अगर कोई योजना बनाकर किसी की हत्या करता है तो उसे जघन्य अपराध माना जाता है। इसके लिए जांच में दोषी पाए जाने पर आरोपी को सजा ए मौत का हुक्म दिया जाता है। जिसके लिए उसे फांसी की सजा दी जाती है। वहीं अगर कोई आंतकी गतिविधियों में शामिल होता है। और उस पर दोष सिद्ध हो जाता है तो भी उसे सजा ए मौत की सजा सुनाई जाती है। इसके लिए व्यक्ति की तरलवार से गर्दन काटी जाती है।

हालांकि कई देशों ने इस काम को मानवाधिकार के खिलाफ बताया है। हमारे देश में जहां बलात्कार करने पर सात साल की सजा का प्रावधान है वहीं सऊदी अरब में ऐसे अपारधों के लिए सजा ए मौत दी जाती है। जानकारी के अनुसार वहां पर ऐसे अपराधी को जनता के सामने सजा दी जाती है।

किसी भी सरकारी संपति को नुकसान पहुंचाने पर या फिर किसी सरकारी कर्मचारी को नुकसान पहुंचाने पर आरोपी को बांधकर कोड़े मारे जाते हैं। किसी की निजी संपत्ति को नुकसान पंहुचाने पर व्यक्ति को कड़ी सजा दी जाती है। यहां तक की उसके हाथ पैर भी तोड़ दिए जाते है। इतनी खतरनाक सजा देने के पीछे बताया गया कि सजा के डर से कोई अपराध नहीं करता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here