कभी-कभी जानवर भी इतनी समझदारी का काम कर जाते हैं कि जानकर हैरानी होती है। यूं तो हमें लगता है कि बस इंसानों के पास दिमाग होता, परंतु कई बार ऐसे उदाहरण देखने को मिल जाते हैं जिससे यह साबित होता है, कि सिर्फ इंसानों के पास दिमाग नहीं होता है अपितु जानवरों के पास भी दिमाग होता है। आपने भी ऐसी कई खबरें देखी और सुनी होंगी। परंतु हम आज ऐसी एक खबर को के बारे में बताने जा रहे हैं जिसको सुनने के बाद हर कोई हैरान रह गया।

बच्ची को सुलाकर महिला लग गयी काम मे-

दरअसल यह घटना है स्कॉटलैंड की। स्कॉटलैंड के कार्नवल शहर से जुड़ी हुई यह घटना हैरान कर देने वाली है। कार्नवल शहर की रहने वाली एक महिला जिसका नाम है, सेडी हेमिल गर्लिंग की एक 5 साल की बेटी है। खबरों के मुताबिक एक दिन सेडी हेमिल ने अपनी बेटी को बुलाया और उसे पालने में लिटा कर अपने पालतू कुत्ते को उसकी निगरानी के लिए बोल कर अपने काम में लग गयी।

कुत्ते के भौकने की आवाज सुनकर महिला पहुची बच्ची के पास-

कुछ समय बीतने के बाद अचानक से कुत्ता तेज-तेज से भौकने लगा। जब सेडी ने कुत्ते की भौंकने की आवाज सुनी तो वह दौड़ कर बच्ची के पास गई। उसके बाद उन्होंने जो नजारा देखा उससे उनकी सांसे थम गई। दरअसल सेडी ने देखा कि उसकी बेटी पालने में रखे कंबल में बुरी तरह से फस गई गई थी। जिसकी वजह से उसकी बेटी को सांस लेने में भी तकलीफ हो रही थी। यही नहीं सांस घुटने की वजह से उनकी बच्ची बेहोश सी होकर लेटी हुई थी। इस नजारे को देखकर सेडी बहुत घबरा गई और उन्होंने जल्दी से बच्ची को कंबल से आजाद किया।

ये भी पढ़िए-

1. जानिए आखिर कहाँ से निकली है शर्माइन के सोफे की असली कहानी

2. जब ले गए बच्ची के अंतिम संस्कार के लिए, तभी हुआ कुछ ऐसा जिसने उड़ा दिया सबका होश

इसके बाद एंबुलेंस की मदद से सेडी तुरंत बच्ची को लेकर हॉस्पिटल में पहुंची। जहां पर डॉक्टर ने बच्ची की हालत को नाजुक बताते हुए रॉयल कॉर्नवाल हॉस्पिटल के लिए रेफर कर दिया। बच्ची को तुरंत एयर एंबुलेंस की मदद से रॉयल कार्निवल हॉस्पिटल ले जाया गया। जहां पर डॉक्टरों ने उसका इलाज शुरू किया। परंतु लाख कोशिशों के बावजूद बच्ची को बचाया न जा सका।