आजकल एक एड चर्चा का विषय बना हुआ है। इस एड के दृश्य से तो सभी आकर्षित हैं ही साथ ही साथ इस एड के बोल भी लोगों को अपनी तरफ खींच लेते हैं। इस एड को फेविकॉल के 60 साल पूरे होने के अवसर पर बनाया गया है। इस एड में एक सोफे की कहानी दिखाई गई है।

फेविकॉल के 60 साल पूरे होने पर बना ये ऐड-

अब हम आपको बता दें कि सोशल मीडिया ने इस एड को भी नहीं छोड़ा और इसका विरोध करते हुए कहा कि ये एड जातिवादी है क्योंकि इसमें मिश्राइन, शर्माइन जैसे शब्दों का प्रयोग किया गया है। इस एड में ये दर्शाया गया है कि एक 60 साल का सोफा कई पीढ़ियों का गवाह बना है। मगर इस एड के पीछे एक असली कहानी भी छुपी है जिसे हम आज आपसे बताने जा रहे हैं।

इस एड को प्रसून पांडे ने बनाया है और उन्होंने इकोनॉमिक्स टाइम्स से पूरी कहानी बताई है। उन्होंने बताया है कि, “तकरीबन एक साल पहले Pidilite के चेयरमैन मधुरकर पारीख और Pidilite के एमडी के बीच एक 1 मिनट की मीटिंग हुई थी। उसके बाद प्लान किया गया था कि अब फेविकोल के नए एड की जरूरत है। ये पहली मीटिंग थी। दूसरी मीटिंग 7 महीने बाद हुई. मीटिंग आधे घंटे तक चली। मीटिंग के पहले 10 मिनट में ही एड के आइडिया को काफी पसंद और अप्रूव किया गया।”

ये भी पढ़िए-
1. निरमा वाशिंग पाउडर के पैकेट पर बनी लड़की की तस्वीर की सच्चाई जानने के बाद आपकी आंखों में आ जाएंगे आंसू

2. एक ऐसा शख्स जिसने अजीबोगरीब वजह से एक साथ रचाई अपनी दो गर्लफ्रेंड के साथ शादी, दोनों गर्लफ्रेंड ने भी दिया उसका साथ

इस एड में दिखाया गया है कि आखिर एक सोफे ने किस तरह से लंबा सफर तय किया है और सफर के दौरान वो टूटा नहीं है क्योंकि वो फेविकॉल से बना हुआ है।

इस एड के साथ एक गाना भी जुड़ा हुआ है जिसके लिरिक्स हैं-

शर्मा की दुल्हिन जो ब्याह के आईं संग टू सीटर सोफा ले आईं।
पड़ गओ नाम शर्माइन का सोफा, हाए रे शर्माइन का सोफा
शर्माइन बहिन का ब्याह कराइन, सोफा पे नवा कपड़ा चढ़ाइन
बन गओ वो मिश्राइन का सोफा, हाए रे मिश्राइन का सोफा
मिश्राइन का लड़का कलेक्टर बनेलु, सोफा पे रग्जीन कपड़ा चढ़ेलु
बन गओ वो कलेक्ट्राइन का सोफा, हाए रे कलेक्ट्राइन का सोफा
कलेक्टर की बिटिया लव मैरिज करेली, सोफा पे बंगाली किर्मिक चढ़ेली
बन गओ वो बंगालन का सोफा, हाए रे बंगालन का सोफा
बड़ा घरन का प्यार निपटाओ, सोफा 60 का होने को आओ
देखी गंगा पार की शादी, देखी देश के बाहर की शादी
अब जो ये ब्याह कराए या ना कराए। पर सोफा बनाए तो दिल से बनाए।”

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here